अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

पूर्वदत्त भुगतान लिखतों (पीपीआई)

(11 अप्रैल 2022 की स्थिति के अनुसार अद्यतन)

1. भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) ने पूर्वदत्त भुगतान लिखतों (पीपीआई) पर मास्टर निदेश (एमडी) दिनांकित 27 अगस्त 2021 (एमडी-पीपीआई) को किन शक्तियों के तहत जारी किया है?

उत्तर. भुगतान और निपटान प्रणाली अधिनियम, 2007 (पीएसएस अधिनियम) की धारा 10(2) के साथ पठित धारा 18 के तहत प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए आरबीआई ने यह मास्टर निदेश जारी किया है ।

2. पीपीआई क्या हैं?

उत्तर. पीपीआई ऐसे लिखत हैं जो उनमें संगृहीत मूल्य से वस्तुओं और सेवाओं की खरीद, वित्तीय सेवाओं के संचालन, विप्रेषण आदि सुविधाओं को सक्षम करने की सुविधा प्रदान करते हैं ।

3. पीपीआई के जारीकर्ता कौन हैं?

उत्तर. पीपीआई बैंकों और गैर-बैंकों द्वारा जारी किए जा सकते हैं। बैंक आरबीआई से अनुमोदन प्राप्त करने के बाद पीपीआई जारी कर सकते हैं। गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता भारत में निगमित और कंपनी अधिनियम, 1956/2013 के तहत पंजीकृत कंपनियां हैं। वे आरबीआई से प्राधिकरण प्राप्त करने के बाद व्यक्तियों/संगठनों को पीपीआई जारी करने के लिए भुगतान प्रणाली का परिचालन कर सकते हैं ।

4. पीपीआई का धारक कौन होता है?

उत्तर. पीपीआई का धारक वह व्यक्ति होता है जो पीपीआई जारीकर्ता से पीपीआई प्राप्त करता/खरीदता है। तथापि, उपहार पीपीआई के मामले में, कोई अन्य इच्छित/लक्षित लाभार्थी, हालांकि वह एक खरीदार नहीं है, भी धारक हो सकता है।

5. पीपीआई जारीकर्ता संस्थाएं पीपीआई धारकों से एकत्रित धन का क्या करती हैं?

उत्तर. पीपीआई जारीकर्ताओं द्वारा इस प्रकार एकत्र किए गए धन का उपयोग उन व्यापारियों को भुगतान करने के लिए किया जाना है जो स्वीकृति व्यवस्था का हिस्सा हैं और जिनका उपयोग पीपीआई धारकों की ओर से निधियों के अंतरण/विप्रेषण सेवाओं की सुविधा के लिए किया जाना है।

6. आरबीआई द्वारा कितने पीपीआई जारीकर्ताओं को अनुमोदित किया गया है? मुझे प्राधिकृत बैंक और गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ताओं की सूची कहां मिल सकती है?

उत्तर. पीपीआई जारीकर्ताओं की सूची आरबीआई की वेबसाइट पर https://www.rbi.org.in/Scripts/bs_viewcontent.aspx?Id=2491 (बैंक-पीपीआई जारीकर्ता) और https://www.rbi.org.in/Scripts/PublicationsView.aspx?id=12043 (गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता) लिंक के तहत उपलब्ध है ।

7. क्लोज्ड सिस्टम पीपीआई क्या हैं?

उत्तर. ये पीपीआई किसी संस्था द्वारा केवल उसी संस्था की वस्तुओं और सेवाओं की खरीद की सुविधा प्रदान करने के लिए जारी किए जाते हैं। इनमें नकद आहरण की अनुमति नहीं है। इन लिखतों का उपयोग तीसरे पक्ष की सेवाओं के भुगतान अथवा निपटान के लिए नहीं किया जा सकता है। इस तरह के लिखतों को जारी करने अथवा इनके परिचालन को ऐसे भुगतान प्रणाली के रूप में वर्गीकृत नहीं किया गया है जिसके लिए आरबीआई से अनुमोदन / प्राधिकरण की आवश्यकता है और इस कारण से इनका विनियमन अथवा पर्यवेक्षण आरबीआई द्वारा नहीं किया जाता है।

8. पीपीआई के विभिन्न प्रकार क्या हैं?

उत्तर. पीपीआई जिन्हें जारी करने से पहले आरबीआई के अनुमोदन / प्राधिकरण की आवश्यकता होती है, उन्हें दो प्रकारों में वर्गीकृत किया जाता है:

ए) लघु पीपीआई (अथवा न्यूनतम-विवरण पीपीआई) : ये पीपीआई बैंकों और गैर-बैंकों द्वारा पीपीआई धारक के न्यूनतम विवरण प्राप्त करने के बाद जारी किए जाते हैं। इन पीपीआई का उपयोग स्पष्ट रूप से पहचाने गए व्यापारी स्थानों / प्रतिष्ठानों के समूह में वस्तुओं और सेवाओं की खरीद के लिए किया जा सकता है, जिनका जारीकर्ता (अथवा भुगतान एग्रीगेटर / भुगतान गेटवे के माध्यम से अनुबंध) के साथ पीपीआई को भुगतान लिखतों के रूप में स्वीकार करने के लिए एक विशिष्ट अनुबंध है । ऐसे पीपीआई से निधियों के अंतरण अथवा नकद आहरण की अनुमति नहीं है।

बी) पूर्ण-केवाईसी पीपीआई : पीपीआई धारक के संबंध में अपने ग्राहक को जानिए (केवाईसी) पूरा करने के बाद बैंकों और गैर-बैंकों द्वारा ये पीपीआई जारी किए जाते हैं। इन पीपीआई का उपयोग वस्तुओं और सेवाओं की खरीद, निधियों के अंतरण अथवा नकद आहरण के लिए किया जा सकता है।

9. लघु पीपीआई कितने प्रकार के होते हैं?

उत्तर. लघु पीपीआई दो प्रकार के हो सकते हैं:

ए. 10,000/- तक के पीपीआई (नकद लोडिंग की सुविधा के साथ) । इन पीपीआई को 24 महीने के भीतर पूर्ण-केवाईसी पीपीआई में परिवर्तित करना होगा ।

बी. 10,000/- तक के पीपीआई (नकद लोडिंग सुविधा के बिना) ।

10. पीपीआई कैसे लोड किए जा सकते हैं?

उत्तर. पीपीआई को नकद (एक तरह के लघु पीपीआई के मामले में अनुमति नहीं है), बैंक खाते में डेबिट, क्रेडिट और डेबिट कार्ड, पीपीआई (समय-समय पर यथा अनुमत) और भारत में विनियमित संस्थाओं द्वारा जारी अन्य भुगतान लिखतों द्वारा केवल भारतीय रुपये (आईएनआर) में लोड / पुनः लोड किया जा सकता है।

11. क्या नकद अथवा इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से पीपीआई लोड करने की कोई सीमा है?

उत्तर. हां, पीपीआई की नकद लोडिंग की सीमा 50,000/- प्रति माह है, जो पीपीआई की समग्र सीमा के अधीन है (एक तरह के लघु पीपीआई के मामले अनुमति नहीं है)। इलेक्ट्रॉनिक/ऑनलाइन माध्यमों से पीपीआई को लोड करने की सीमा पीपीआई की समग्र सीमा के अधीन है।

12. दोनों प्रकार के लघु पीपीआई में प्राप्त किए जाने वाले विवरणों में क्या शामिल हैं?

उत्तर. दोनों प्रकार के लघु पीपीआई में न्यूनतम विवरण एक समान हैं और ये इस प्रकार हैं:

ए. वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) से सत्यापित मोबाइल नंबर; तथा

बी. केवाईसी पर आरबीआई के मास्टर निदेश में इस उद्देश्य के लिए सूचीबद्ध किसी भी अनिवार्य दस्तावेज अथवा आधिकारिक रूप से वैध दस्तावेज (ओवीडी) अथवा किसी भी नाम से सूचीबद्ध इस तरह के किसी भी दस्तावेज में नाम और विशिष्ट पहचान /पहचान संख्या की स्व-घोषणा। अनिवार्य दस्तावेज/ओवीडी की वर्तमान सूची में पैन, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान कार्ड, नरेगा जॉब कार्ड, आधार संख्या होने का प्रमाण और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर द्वारा जारी पत्र शामिल हैं।

13. दोनों प्रकार के लघु पीपीआई की मुख्य विशेषताएं क्या हैं?

उत्तर. दोनों प्रकार के लघु पीपीआई पुनः लोड करने योग्य हैं और इनका उपयोग केवल वस्तुओं और सेवाओं की खरीद के लिए किया जाएगा। उनकी मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

10,000/- तक के पीपीआई (नकद लोडिंग सुविधा के साथ):

ए) किसी भी माह के दौरान लोड की गई राशि 10,000/- से अधिक नहीं होगी;

बी) वित्तीय वर्ष के दौरान लोड की गई कुल राशि 1,20,000/- से अधिक नहीं होगी;

सी) किसी भी समय बकाया राशि 10,000/- से अधिक नहीं होगी;

डी) किसी भी महीने के दौरान डेबिट की गई कुल राशि 10,000/- से अधिक नहीं होगी;

ई) पीपीआई 24 महीने के भीतर पूर्ण-केवाईसी पीपीआई में परिवर्तित किए जाएंगे; तथा

एफ) लोडिंग / पुनः लोडिंग नकद अथवा इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से हो सकेगी।

10,000/- तक के पीपीआई (नकद लोडिंग सुविधा के बिना):

ए) किसी भी माह के दौरान लोड की गई राशि 10,000/- से अधिक नहीं होगी;

बी) वित्तीय वर्ष के दौरान लोड की गई कुल राशि 1,20,000/- से अधिक नहीं होगी;

सी) किसी भी समय बकाया राशि 10,000/- से अधिक नहीं होगी;

डी) लोडिंग/पुनः लोडिंग बैंक खाते/क्रेडिट कार्ड/पूर्ण-केवाईसी पीपीआई से होगी; तथा

ई) 24 दिसंबर 2019 को मौजूदा लघु पीपीआई (नकद लोडिंग सुविधा के साथ) को, पीपीआई धारक द्वारा चाहने पर, ऐसे पीपीआई में परिवर्तित किया जा सकता है।

14. क्या दोनों प्रकार के लघु पीपीआई से नकद आहरण अथवा निधियों के अंतरण की अनुमति है?

उत्तर. इन दोनों प्रकार के लघु पीपीआई से नकद आहरण अथवा निधियों के अंतरण की अनुमति नहीं है ।

15. कोई ग्राहक कब तक लघु पीपीआई (नकद लोडिंग सुविधा के साथ) रख सकता है?

उत्तर. एक लघु पीपीआई (नकद लोडिंग सुविधा के साथ) केवल 24 महीने की अधिकतम अवधि के लिए रखा जा सकता है। 24 महीने की गणना ऐसे पीपीआई को शुरू करने के दिन से की जाएगी। 24 महीनों की इस अवधि के भीतर, इसे पूर्ण-केवाईसी पीपीआई में परिवर्तित करना होगा, जिसके विफल होने पर ऐसे पीपीआई में आगे कोई क्रेडिट की अनुमति नहीं होगी। तथापि, उपलब्ध शेष राशि का उपयोग करने की अनुमति पीपीआई धारक को होगी।

16. क्या 24 महीने की अधिकतम समय-सीमा समाप्त होने के बाद एक बंद किए (क्लोज्ड) लघु पीपीआई (नकद लोडिंग सुविधा के साथ) को पुनः खोला जा सकता है?

उत्तर. समान मोबाइल नंबर और समान न्यूनतम विवरण का उपयोग करके ऐसे पीपीआई को पुनः जारी करने की अनुमति नहीं है ।

17. यदि लघु पीपीआई (दोनों प्रकार के) की अब आवश्यकता नहीं है और उन्हें बंद करना है, तो बकाया राशि का क्या होगा?

उत्तर. पीपीआई धारक के पास किसी भी समय पीपीआई को बंद करने और बंद होने के समय निधियों को 'स्रोत को वापस' (भुगतान स्रोत जहां से पीपीआई लोड किया गया था) अंतरित करने का विकल्प होता है। वैकल्पिक रूप से, पीपीआई धारक की केवाईसी अपेक्षाओं का अनुपालन करने के बाद बंद करने के समय बची हुई राशि को बैंक खाते में अंतरित किया जा सकता है ।

18. 'पूर्ण-केवाईसी' पीपीआई की मुख्य विशेषताएं क्या हैं?

उत्तर. 'पूर्ण-केवाईसी' पीपीआई की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

ए. इनकी प्रकृति पुनः लोड करने योग्य होगी;

बी. बकाया राशि किसी भी समय 2,00,000/- से अधिक नहीं होगी;

सी. एक महीने के दौरान कुल क्रेडिट अथवा डेबिट के लिए कोई सीमा निर्धारित नहीं है; तथा

डी. उनका उपयोग वस्तुओं और सेवाओं की खरीद, नकद आहरण और निधियों के अंतरण के लिए किया जा सकता है।

19. 'जारीकर्ता द्वारा विधिवत सत्यापित' से क्या तात्पर्य है? पीपीआई जारीकर्ता को यह कैसे सुनिश्चित करना चाहिए कि यह 'पीपीआई धारक का अपना बैंक खाता' है?

उत्तर. पीपीआई जारीकर्ता यह सत्यापित करने के लिए जिम्मेदार है कि बैंक खाता पीपीआई धारक से संबंधित है जिसके लिए वह सत्यापन के उपयुक्त तरीके तैयार कर सकता है।

20. क्या 'पूर्ण-केवाईसी' पीपीआई से निधि अंतरण की अनुमति है?

उत्तर. हां, एक 'पूर्ण-केवाईसी' पीपीआई से प्रति धारक 10,000/- प्रति माह की सीमा के भीतर निधि अंतरण की अनुमति है। तथापि, पीपीआई धारक द्वारा लाभार्थी के 'पूर्व-पंजीकृत' होने पर प्रति लाभार्थी 2,00,000/- प्रति माह तक की बढ़ी हुई सीमा का लाभ उठाया जा सकता है। तथापि, पीपीआई जारीकर्ता पीपीआई धारक के जोखिम प्रोफाइल, अन्य परिचालनगत जोखिमों आदि को ध्यान में रखते हुए एक न्यूनतम सीमा निर्धारित कर सकता है।

21. क्या कोई पीपीआई धारक 'पूर्ण-केवाईसी' पीपीआई को बंद कर सकता है? यदि हां, तो बकाया राशि का क्या होगा?

उत्तर. पीपीआई जारीकर्ता 'पूर्ण-केवाईसी' पीपीआई धारकों को पीपीआई को बंद करने और इस प्रकार के पीपीआई की लागू सीमा के अनुसार शेष राशि को बैंक खाते में अंतरित करने का विकल्प देंगे। इस प्रयोजन के लिए, जारीकर्ता पीपीआई जारी करते समय धारक को पूर्व-निर्दिष्ट बैंक खाते अथवा अन्य पीपीआई का विवरण प्रदान करने का विकल्प प्रदान करेगा, जिसमें पीपीआई में उपलब्ध शेष राशि को पीपीआई के बंद होने, पीपीआई की वैधता अवधि की समाप्ति आदि की स्थिति में अंतरित किया जाएगा। बंद होने के समय, कोई धारक एक बैंक खाता निर्दिष्ट कर सकता है जो पहले दिए गए पूर्व-निर्दिष्ट खाते से अलग है।

22. बैंकों द्वारा जारी किए गए पीपीआई के मामले में नकद आहरण की सीमाएं क्या हैं?

उत्तर. बैंक द्वारा जारी पीपीआई के मामले में, एटीएम, पीओएस उपकरणों, बीसी आदि पर नकद आहरण की अनुमति है। तथापि, पीओएस उपकरणों पर नकद निकासी सभी स्थानों पर (टियर 1 से 6 केंद्र) 10,000/- की समग्र मासिक सीमा के भीतर प्रति लेनदेन 2,000/- की सीमा के अधीन है।

23. गैर-बैंकों द्वारा जारी पीपीआई के मामले में नकद आहरण की सीमाएं क्या हैं?

उत्तर. गैर-बैंक जारी किए गए पीपीआई के मामले में, सभी चैनलों (एजेंटों, एटीएम, पीओएस उपकरणों, आदि) में प्रति पीपीआई 10,000/- की समग्र मासिक सीमा के भीतर प्रति लेनदेन 2,000/- की सीमा तक नकद आहरण की अनुमति है।

24. ऊपर वर्णित लघु पीपीआई और पूर्ण-केवाईसी पीपीआई के अलावा अन्य प्रकार के पीपीआई कौन से हैं?

उत्तर. उपर्युक्त पीपीआई के अलावा, पीपीआई की निम्नलिखित दो श्रेणियां हैं:

ए. उपहार पीपीआई; तथा
बी. मास ट्रांजिट सिस्टम के लिए पीपीआई (पीपीआई-एमटीएस)।

25. उपहार पीपीआई की मुख्य विशेषताएं क्या हैं?

उत्तर. उपहार पीपीआई की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

ए. ऐसे प्रत्येक पूर्वदत्त उपहार लिखत का अधिकतम मूल्य 10,000/- से अधिक नहीं होगा;

बी. ये पुनः लोड करने योग्य नहीं होंगे;

सी. कैश-आउट अथवा निधि अंतरण की अनुमति नहीं होगी। तथापि, पीपीआई धारक की सहमति प्राप्त करने के बाद निधि को 'स्रोत खाते को वापस' (वह खाता जहां से उपहार पीपीआई लोड किया गया था) अंतरित किया जा सकता है;

डी. पीपीआई धारक द्वारा अनुरोध किए जाने पर पुन: सत्यापित किया जाएगा (जिसमें नए लिखत जारी किए जाने के माध्यम से, शामिल है); तथा

ई. उपहार पीपीआई का उपयोग करने वाले लेनदेन के लिए प्रमाणीकरण का अतिरिक्त कारक (एएफए) / दो कारक प्रमाणीकरण (2एफए) अनिवार्य नहीं है।

26. मास ट्रांजिट सिस्टम के लिए पीपीआई (पीपीआई-एमटीएस) की मुख्य विशेषताएं क्या हैं?

उत्तर. पीपीआई-एमटीएस की मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:

ए. ये पीपीआई एमटीएस परिचालकों द्वारा जारी किए जाते हैं;

बी. एमटीएस के अलावा, इन पीपीआई का उपयोग केवल उन व्यापारियों के पास किया सकता है जिनकी गतिविधियां ट्रांजिट सिस्टम के परिसर में की जाती हो अथवा उससे संबद्ध/संबंधित हो;

सी. इनकी प्रकृति पुनः लोड करने योग्य होती है;

डी. अधिकतम बकाया राशि किसी भी समय 3,000/- से अधिक नहीं हो सकती;

ई. कैश-आउट अथवा रिफंड अथवा निधि अंतरण की अनुमति नहीं है;

एफ. पीपीआई धारक द्वारा कभी भी अनुरोध किए जाने पर पुन: सत्यापित किया जाएगा (जिसमें नए लिखत जारी करने के माध्यम से, शामिल है); तथा

जी. ऐसे पीपीआई के उपयोग से होने वाले लेनदेनों के लिए एएफए / 2एफए अनिवार्य नहीं है।

27. एमडी-पीपीआई में पैरा संख्या 7.12, 9.1 (i) (के), 9.1 (ii) (जी), आदि जैसे विभिन्न स्थानों पर उल्लिखित केवाईसी शब्द का क्या अर्थ है?

उत्तर. केवाईसी का अर्थ एमडी-पीपीआई के पैरा 6 में दी गई परिभाषा के अनुसार है। आरबीआई के विनियमन विभाग (डीओआर) द्वारा "मास्टर निदेश - अपने ग्राहक को जानिए निदेश, 2016" में जारी केवाईसी/धन-शोधन निवारण (एएमएल)/आतंकवाद के लिए वित्तपोषण का मुकाबला (सीएफटी) करने संबंधी दिशानिर्देश अन्य बातों के साथ साथ पीपीआई जारी करने वाली सभी संस्थाओं पर लागू होंगे ।

28. क्या कोई धारक पीपीआई शेष राशि पर कोई ब्याज अर्जित करता है?

उत्तर. पीपीआई की शेष राशियों पर कोई ब्याज देय नहीं है।

29. पीपीआई किस रूप में जारी किया जा सकता है?

उत्तर. पीपीआई को कार्ड, वॉलेट और ऐसे किसी भी रूप में / लिखत के रूप में जारी किया जा सकता है जिसका उपयोग पीपीआई तक पहुंच स्थापित करने और उसमें पड़ी राशि का उपयोग करने के लिए किया जा सकता है। पेपर वाउचर के रूप में पीपीआई जारी नहीं किए जा सकते।

30. जारी करने के समय पीपीआई जारीकर्ता द्वारा किस प्रकार के प्रकटीकरण किए जाने हैं?

उत्तर. पीपीआई जारीकर्ता लिखतों को जारी करते समय धारकों को सभी महत्वपूर्ण नियमों और शर्तों को स्पष्ट और सरल भाषा में प्रकट करेंगे। इन प्रकटीकरण में निम्नलिखित शामिल होंगे:

ए. लिखत के उपयोग से जुड़े सभी प्रभार और शुल्क; तथा

बी. वैधता अवधि की समाप्ति और लिखत की वैधता समाप्ति से संबंधित नियम और शर्तें।

31. क्या कोई पीपीआई जारीकर्ता प्रत्येक नकद-आधारित विप्रेषण के लिए नए पीपीआई बना सकता है?

उत्तर. पीपीआई जारीकर्ता, उनके एजेंटों सहित, अन्य पीपीआई/बैंक खातों में नकद-आधारित विप्रेषणों की सुविधा के लिए हर बार नए पीपीआई नहीं बनाएंगे। उस व्यक्ति द्वारा पिछले विप्रेषण के लिए बनाए गए पीपीआई का उपयोग किया जाएगा।

32. क्या सह-ब्रैंडेड पीपीआई जारी किए जा सकते हैं?

उत्तर. हां। पीपीआई जारीकर्ता द्वारा एकल आधार पर अथवा अन्य संस्था के साथ सह-ब्रैंडेड आधार पर पीपीआई जारी किए जा सकते हैं ।

33. पीपीआई जारीकर्ता का सह-ब्रैंडिंग भागीदार कौन हो सकता है?

उत्तर. सह-ब्रैंडिंग भागीदार कंपनी अधिनियम, 1956/2013 के तहत भारत में निगमित एक कंपनी होगी। सह-ब्रैंडिंग भागीदार एक सरकारी विभाग/मंत्रालय भी हो सकता है। यदि सह-ब्रांडिंग भागीदार एक बैंक है, तो वह आरबीआई से लाइसेंस प्राप्त होगा । बैंक और गैर-बैंक संस्था के बीच सह-ब्रैंडिंग व्यवस्था के मामले में, बैंक पीपीआई जारीकर्ता होगा। यदि दोनों संस्थाएं गैर-बैंक हैं, तो उनमें से एक को आपस में जारीकर्ता की भूमिका अग्रिम रूप से पूर्व-निर्धारित की जाएगी।

34. सह-ब्रैंडेड कार्ड के मामले में, ग्राहक सेवा के सभी पहलुओं का समाधान करने के लिए कौन जिम्मेदार होगा?

उत्तर. दो साझेदारों के बीच, एक को पीपीआई जारीकर्ता के रूप में नामित किया जाएगा जो सह-ब्रैंडेड पीपीआई से संबंधित सभी ग्राहक सेवा पहलुओं का समाधान करने के लिए जिम्मेदार होगा।

35. क्या पीपीआई का उपयोग सीमा-पार जावक लेनदेन के लिए किया जा सकता है? इसके तहत लेनदेन की सीमाएँ क्या हैं और किस प्रकार के लेनदेन की अनुमति है?

उत्तर. प्राधिकृत डीलर श्रेणी-I बैंकों द्वारा जारी पूर्ण-केवाईसी पीपीआई, फेमा के तहत अनुमत चालू खाता लेनदेनों, अर्थात वस्तुओं और सेवाओं की खरीद के लिए, सीमा-पार जावक लेनदेनों में उपयोग किए जा सकते हैं। यह सुविधा केवल पीपीआई धारक के स्पष्ट अनुरोध पर ही सक्षम की जाएगी।

लेनदेन की सीमाएं:

प्रति लेनदेन सीमा 10,000/- से अधिक नहीं होगी।
प्रति माह सीमा 50,000/- से अधिक नहीं होगी।

अनुमत लेनदेन:

विदेशी मुद्रा प्रबंध अधिनियम (फेमा) के तहत अनुमत चालू खाता लेनदेन, अर्थात इस तरह के लेनदेनों को नियंत्रित करने वाले मौजूदा मानदंडों के अनुपालन के अधीन वस्तुओं और सेवाओं की खरीद।

लेनदेन जिनकी अनुमति नहीं है:

ए. उदारीकृत विप्रेषण योजना के अंतर्गत कोई सीमा-पार जावक निधि अंतरण और/अथवा विप्रेषण के लिए।

बी ऑनलाइन व्यापारियों के खाते की प्रीफंडिंग।

36. क्या पीपीआई का उपयोग सीमा-पार आवक लेनदेन के लिए किया जा सकता है? लेनदेन की सीमाएं क्या हैं?

उत्तर. बैंक और गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता, जो प्राधिकृत सीमा-पार प्रिंसिपल (ओपी) के भारतीय एजेंट हैं, को आरबीआई की मुद्रा अंतरण सेवा योजना (एमटीएसएस) के तहत आवक विप्रेषण के लाभार्थियों को पूर्ण-केवाईसी पीपीआई जारी करने की अनुमति है। इसका अर्थ यह है कि इस गतिविधि को करने वाली संस्था को एक प्राधिकृत पीपीआई जारीकर्ता के साथ-साथ एमटीएसएस (विदेशी मुद्रा विभाग, आरबीआई द्वारा प्राधिकृत) के तहत एक भारतीय एजेंट होना चाहिए।

व्यक्तिगत आवक एमटीएसएस विप्रेषण से 50,000/- तक की राशि को लाभार्थियों को जारी किए गए पीपीआई में लोड अथवा पुनः लोड करने की अनुमति है। 50,000/- से अधिक की किसी भी एकल लेनदेन राशि का भुगतान बैंक खाते में जमा करके किया जाएगा।

37. एमटीएसएस के तहत 75,000/- का सीमा-पार आवक विप्रेषण प्राप्त करते समय, क्या 50,000/- पीपीआई में जमा किया जा सकता है और शेष बैंक खाते में जमा किया जा सकता है?

उत्तर. नहीं, जब पीपीआई में निधियों को लोड किया जाता है तो क्रेडिट के विभाजन की अनुमति नहीं है। चूंकि लेनदेन की राशि 50,000/- से अधिक है, इसलिए पूरी राशि को बैंक खाते में जमा करना होगा ।

38. क्या पीपीआई का उपयोग करके किए गए लेनदेन के लिए एएफए/2एफए की आवश्यकता है?

उत्तर. नकद निकासी लेनदेन सहित वॉलेट में डेबिट से जुड़े सभी वॉलेट लेनदेनों की अनुमति केवल 2एफए के माध्यम से सत्यापन द्वारा ही दी जाती है। पीपीआई कार्ड (भौतिक अथवा आभासी) के लिए एएफए अपेक्षाएं वही होंगी जो डेबिट कार्ड के लिए आवश्यक हैं। पीपीआई-एमटीएस और गिफ्ट पीपीआई के तहत जारी किए गए पीपीआई के लिए 2एफए/एएफए अनिवार्य नहीं है।

39. पीपीआई की न्यूनतम वैधता अवधि क्या है?

उत्तर. सभी पीपीआई के मामले में न्यूनतम वैधता अवधि पीपीआई में अंतिम लोडिंग/पुनः लोडिंग की तारीख से एक वर्ष की होगी। तथापि, पीपीआई जारीकर्ता लंबी वैधता के साथ पीपीआई जारी करने के लिए स्वतंत्र हैं। पीपीआई जारी करते समय जारीकर्ता स्पष्ट रूप से ग्राहक को पीपीआई की वैधता अवधि की समाप्ति के बारे में अवगत कराएंगे ।

40. एक निश्चित अवधि के लिए उपयोग नहीं किए जाने वाले पीपीआई का क्या होगा?

उत्तर. एक वर्ष की लगातार अवधि के लिए बिना किसी वित्तीय लेनदेन वाले पीपीआई को पीपीआई धारक को नोटिस भेजने के बाद निष्क्रिय किया/माना जाएगा। सत्यापन और लागू समुचित सावधानी के बाद ही इसे फिर से सक्रिय किया जा सकता है।

41. ऐसे पीपीआई में बकाया राशि का क्या होगा, जहां योजना बंद की जा रही है अथवा आरबीआई द्वारा बंद करने का निर्देश दिया गया है?

उत्तर. यदि किसी भी कारण से योजना समाप्त हो रही है अथवा आरबीआई द्वारा इसे बंद करने का निर्देश दिया गया है, तो ऐसे पीपीआई के धारकों को पीपीआई में पड़ी बकाया राशि को भुनाने की अनुमति दी जाएगी ।

42. विफल/वापस किए गए/अस्वीकृत/रद्द लेनदेनों के मामले में धन वापसी से कैसे निपटा जाएगा?

उत्तर. भुगतान करते समय पीपीआई को डेबिट करने की सीमा तक विफल/वापस किए गए/अस्वीकृत/रद्द लेनदेनों के मामले में संबंधित पीपीआई पर धन वापसी तुरंत लागू की जाएगी; भले ही निधियों के इस तरह के उपयोग के परिणामस्वरूप ये उस तरह के पीपीआई के प्रकार/श्रेणी के लिए निर्धारित की गई सीमा से अधिक हो जाती हों।

43. क्या किसी अन्य भुगतान लिखत का उपयोग करके विफल/वापस किए गए/अस्वीकृत/ रद्द किए गए लेनदेनों के मामले में धन वापसी को पीपीआई में क्रेडिट किया जा सकता है?

उत्तर. किसी अन्य भुगतान लिखत का उपयोग करके विफल/वापस किए गए/अस्वीकृत/रद्द किए गए लेनदेनों के मामले में धन वापसी को पीपीआई में क्रेडिट नहीं किया जाना चाहिए।

44. पीपीआई जारीकर्ता के लिए निर्धारित शिकायत निवारण तंत्र क्या है?

उत्तर. पीपीआई जारीकर्ता एक औपचारिक, सार्वजनिक रूप से प्रकट ग्राहक शिकायत निवारण ढांचा लागू करेंगे, जिसमें ग्राहकों की शिकायतों को देखने के लिए एक नोडल अधिकारी, एस्केलेशन मैट्रिक्स और शिकायत समाधान के लिए टर्न-अराउंड-टाइम शामिल हैं। ढांचे में, कम से कम, निम्नलिखित शामिल होंगे:

ए. सरल भाषा में पीपीआई जारीकर्ता की ग्राहक सुरक्षा और शिकायत निवारण नीति की जानकारी का प्रसार;

बी. पीपीआई जारीकर्ता के ग्राहक सेवा संपर्क विवरण का स्पष्ट उल्लेख, जिसमें वेबसाइट, मोबाइल ऐप और कार्ड पर शिकायत निवारण के लिए नोडल अधिकारी का विवरण शामिल है;

सी. पीपीआई जारीकर्ता के एजेंटों द्वारा उचित साइनेज और ऊपर (बी) के अनुसार ग्राहक सेवा संपर्क विवरण का प्रदर्शन;

डी. ग्राहक द्वारा दर्ज शिकायत की स्थिति को ट्रैक करने की सुविधा के साथ-साथ दर्ज की गई शिकायतों के लिए विशिष्ट शिकायत संख्या प्रदान करना;

ई. किसी भी ग्राहक शिकायत का शीघ्रता से समाधान करने के लिए कार्रवाई शुरू करना, प्राथमिकता देते हुए 48 घंटों के भीतर और ऐसी किसी शिकायत के प्राप्त होने की तारीख से 30 दिनों के भीतर इसका समाधान करने का प्रयास करना;

एफ. वेबसाइट / मोबाइल ऐप पर पीपीआई जारीकर्ता के प्राधिकृत / नामित एजेंटों (नाम, एजेंट आईडी, पता, संपर्क विवरण, आदि) की विस्तृत सूची प्रदर्शित करना; तथा

जी. पीपीआई से संबंधित वेबसाइट/मोबाइल ऐप पर अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों (एफएक्यू) के उत्तर उपलब्ध कराएं ।

45. क्या पीपीआई लेनदेनों का खाता विवरण अथवा पूर्व लेनदेन का विवरण प्रदान करने की कोई अपेक्षा है?

उत्तर. पीपीआई जारीकर्ता पीपीआई धारकों को कम से कम पिछले 6 महीनों के लिए खाता विवरण सृजित करने / प्राप्त करने का विकल्प प्रदान करेंगे। खाता विवरण में, कम से कम, लेनदेन का दिनांक, डेबिट / क्रेडिट राशि, निवल शेष राशि और लेनदेन का विवरण जैसे विवरण प्रदान किए जाएंगे । इसके अतिरिक्त, पीपीआई जारीकर्ता कम से कम 10 लेनदेनों के लिए पूर्व लेनदेन का विवरण प्रदान करेंगे।

46. क्या पीपीआई लेनदेन के लिए रिज़र्व बैंक - एकीकृत लोकपाल योजना लागू है?

उत्तर. बैंकों और गैर-बैंकों द्वारा ज़ारी किए गए पीपीआई के मामले में, ग्राहक शिकायत निवारण के लिए रिजर्व बैंक - एकीकृत लोकपाल योजना, 2021 का सहारा ले सकते है। यह योजना आरबीआई की वेबसाइट https://cms.rbi.org.in लिंक पर उपलब्ध है।

47. क्या एक पीपीआई जारीकर्ता एक ही ग्राहक को कई पीपीआई जारी कर सकता है?

उत्तर. एक पीपीआई जारीकर्ता ग्राहक को निम्नलिखित तीन प्रकारों में से कोई एक जारी कर सकता है:

ए) 10,000 तक के लघु पीपीआई (नकद लोडिंग सुविधा के साथ);
बी) 10,000 तक के लघु पीपीआई (कैश लोडिंग सुविधा के बिना); और
सी) पूर्ण-केवाईसी पीपीआई ।

48. ऊपर वर्णित प्रकारों में, यदि एक पीपीआई जारीकर्ता एक ही ग्राहक को किसी कारण से, जैसे कि कई सह-ब्रांडिंग साझेदार, वॉलेट और कार्ड जैसे विभिन्न रूप आदि, कई पीपीआई ज़ारी कर रहा है, तो सीमाओं को कैसे माना जाएगा?

उत्तर. ऊपर वर्णित प्रकारों में, यदि कोई पीपीआई जारीकर्ता विभिन्न कारणों (उदाहरण के लिए कई सह-ब्रांडिंग साझेदार, वॉलेट/कार्ड जैसे विभिन्न रूपों में पीपीआई ज़ारी करना) से एक ही ग्राहक को कई पीपीआई जारी कर रहा है, तब पीपीआई ज़ारीकर्ता केंद्रीकृत डेटाबेस/प्रबंधन सूचना प्रणाली (एमआईएस) के माध्यम से सीमाओं की निगरानी करेगा।

उदाहरण के लिए, किसी विशिष्ट पीपीआई ज़ारीकर्ता द्वारा विभिन्न व्यवस्थाओं/फॉर्म फैक्टर के तहत किसी ग्राहक को ज़ारी किए गए सभी पूर्ण-केवाईसी पीपीआई के मूल्य को मिलाकर किसी भी समय 2,00,000/- की सीमा की गणना की जाएगी। इसी तरह, एमडी-पीपीआई के पैराग्राफ 9.1 (i) में उल्लिखित 10,000 की सीमा सभी छोटे पीपीआई (विभिन्न व्यवस्थाओं / फॉर्म फैक्टर के तहत पीपीआई जारीकर्ता द्वारा जारी) के लिए है। एक पीपीआई जारीकर्ता एक ही समय में एक ही मोबाइल नंबर पर दोनों प्रकार के छोटे पीपीआई ज़ारी नहीं कर सकता है।

हालांकि, सीमाओं में एमडी-पीपीआई के पैराग्राफ 10 में उल्लिखित दो श्रेणियां (उपहार पीपीआई और पीपीआई-एमटीएस) शामिल नहीं हैं।

49. अंतरपरिचालनीयता से क्या अभिप्राय है? क्या पीपीआई अंतरपरिचालनीय हैं?

उत्तर. अंतरपरिचालनीयता तकनीकी अनुकूलता है जो किसी भुगतान प्रणाली को अन्य भुगतान प्रणालियों के संयोजन में उपयोग में लाने में सक्षम बनाती है। 16 अक्तूबर 2018 के परिपत्र के माध्यम से पीपीआई में अंतरपरिचालनीयता की अनुमति दी गई है और इसे 19 मई 2021 के परिपत्र के माध्यम से अनिवार्य कर दिया गया है ।

50. पीपीआई अंतरपरिचालनीयता की सुविधा कौन प्रदान कर सकता है?

उत्तर. कोई भी प्राधिकृत बैंक अथवा गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता पीपीआई अंतरपरिचालनीयता की सुविधा प्रदान कर सकता है।

51. क्या पीपीआई जारीकर्ता के लिए अंतरपरिचालनीयता की अनुमति देना अनिवार्य है?

उत्तर. हां, पीपीआई जारीकर्ता के लिए अंतरपरिचालनीयता की अनुमति देना अनिवार्य है। पीपीआई जारीकर्ता के लिए प्राधिकृत कार्ड नेटवर्क और यूपीआई के माध्यम से पूर्ण-केवाईसी पीपीआई धारकों को अंतरपरिचालनीयता की सुविधा देना अनिवार्य है। स्वीकृति के सभी तरीके (क्यूआर कोड सहित) और पीपीआई जारी करने के लिए 31 मार्च 2022 तक अंतरपरिचालनीयता का होना आवश्यक है।

52. मेरे पास एक लघु पीपीआई है (नकद लोडिंग के साथ अथवा बिना नकद लोडिंग के), लेकिन मेरा पीपीआई जारीकर्ता अंतरपरिचालनीयता की अनुमति नहीं दे रहा है। क्यों?

उत्तर. अंतरपरिचालनीयता की अनुमति केवल पूर्ण-केवाईसी पीपीआई के लिए है।

53. अंतरपरिचालनीयता के तरीके क्या हैं?

उत्तर. यदि पीपीआई को वॉलेट के रूप में जारी किया जाता है, तो सभी पीपीआई में अंतरपरिचालनीयता को यूपीआई के माध्यम से सक्षम किया जाएगा। यदि पीपीआई कार्ड के रूप में जारी किया जाता है, तो कार्ड अंतरपरिचालनीयता के लिए प्राधिकृत कार्ड नेटवर्क से संबद्ध होगा।

54. बैंकों द्वारा जारी किए गए पीपीआई से जुड़े अनधिकृत लेनदेनों के मामले में किस प्रकार का संरक्षण उपलब्ध है?

उत्तर. बैंक पीपीआई जारीकर्ता ग्राहक संरक्षण - अनधिकृत इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग लेनदेन में ग्राहकों की सीमित देयता विषय पर आरबीआई के परिपत्र डीबीआर.सं.लेग.बीसी.78/09.07.005/2017-18 दिनांकित 6 जुलाई 2017 अथवा डीसीबीआर.बीपीडी.(पीसीबी/आरसीबी).परि.सं.06/12.05.001/2017-18 दिनांकित 14 दिसंबर 2017 द्वारा निर्देशित होंगे ।

55. गैर-बैंकों द्वारा जारी किए गए पीपीआई से जुड़े अनधिकृत लेनदेन के मामले में किस प्रकार का संरक्षण उपलब्ध है?

उत्तर. गैर-बैंक जारीकर्ताओं द्वारा जारी किए गए पीपीआई में अनधिकृत लेनदेन के खिलाफ ग्राहकों (पीपीआई धारकों) की देयता को सीमित करने की रूपरेखा एमडी-पीपीआई के पैरा 17 में दी गई है और यह 01 मार्च 2019 से प्रभावी है। नीचे दिए गए अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ताओं द्वारा जारी पीपीआई से संबंधित हैं ।

56. क्या यह ढांचा एमडी-पीपीआई के तहत जारी सभी प्रकार के पीपीआई को कवर करता है?

उत्तर. एमडी-पीपीआई के पैरा 10.2 के अंतर्गत जारी पीपीआई-एमटीएस को छोड़कर, यह ढांचा प्राधिकृत गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ताओं द्वारा जारी सभी पीपीआई पर लागू होता है। पीपीआई-एमटीएस में भी, जारीकर्ता की ओर से अंशदायी धोखाधड़ी/लापरवाही/कमी के मामलों को कवर किया जाता है ।

57. इस ढांचे के तहत इलेक्ट्रॉनिक भुगतान लेनदेन का क्या अर्थ है?

उत्तर. इस एमडी के प्रयोजन के लिए, इलेक्ट्रॉनिक भुगतान लेनदेन निम्नलिखित हो सकते हैं-

ए. रिमोट/ऑनलाइन भुगतान लेनदेन: ऐसे लेनदेन जिनमें वास्तविक पीपीआई को लेनदेन के स्थान पर प्रस्तुत करने की आवश्यकता नहीं होती है, जैसे वॉलेट, कार्ड नॉट प्रेजेंट (सीएनपी) लेनदेन, आदि; तथा

बी. फेस-टू-फेस/निकटता भुगतान लेनदेन: ऐसे लेनदेन जिनमें लेनदेन के स्थान पर भौतिक पीपीआई की उपस्थिति की आवश्यकता होती है, जैसे एटीएम, पीओएस उपकरण आदि पर लेनदेन)।

58. क्या ग्राहक (पीपीआई धारक) को एसएमएस अलर्ट के लिए पंजीकरण करना अनिवार्य है?

उत्तर. इस ढांचे के तहत संरक्षण पाने के लिए, ग्राहक (पीपीआई धारक) के लिए एसएमएस अलर्ट के लिए पंजीकरण करना अनिवार्य है।

59. क्या ग्राहक को अपने पीपीआई खाते में लेनदेन संबंधी अलर्ट मिलनी चाहिए?

उत्तर. गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ताओं के लिए ग्राहक को उनके खाते में किसी भी भुगतान लेनदेन के लिए एक एसएमएस अलर्ट भेजना अनिवार्य है। इसके अलावा, जहां कहीं भी पंजीकृत है, एक ईमेल अलर्ट भी भेजा जा सकता है। लेनदेन अलर्ट में एक संपर्क नंबर और/अथवा ईमेल आईडी होना चाहिए, जिस पर ग्राहक अनधिकृत लेनदेन की रिपोर्ट कर सकता है अथवा आपत्ति की सूचना दे सकता है।

60. ग्राहक अपने पीपीआई खाते में अनधिकृत लेनदेन की रिपोर्ट कहां कर सकता है?

उत्तर. गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता ग्राहकों को अनधिकृत लेनदेन और/अथवा पीपीआई की क्षति अथवा चोरी की सूचना देने के लिए वेबसाइट/एसएमएस/ईमेल/समर्पित टोल-फ्री हेल्पलाइन के माध्यम से रात दिन सात दिन (24x7) पहुंच की सुविधा प्रदान करेंगे। इसके अलावा, अनधिकृत इलेक्ट्रॉनिक भुगतान लेनदेनों की सूचना देने के लिए विशिष्ट विकल्प के साथ शिकायत दर्ज करने के लिए एक सीधा लिंक गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ताओं द्वारा मोबाइल ऐप / उनकी वेबसाइट के होम पेज / किसी अन्य विकसित स्वीकृति मोड पर प्रदान किया जाएगा।

61. क्या ग्राहक द्वारा जारीकर्ता को इस तरह के लेनदेन अथवा लिखत की क्षति के बारे में रिपोर्ट करने के बाद किसी भी अनधिकृत लेनदेन से सुरक्षित है?

उत्तर. अनधिकृत भुगतान लेनदेन अथवा लिखत की क्षति की सूचना मिलने पर, गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता ग्राहक के पीपीआई खाते में और अधिक अनधिकृत भुगतान लेनदेन को रोकने के लिए तत्काल कार्रवाई करेंगे। इस तरह के एक लिखत के मामले में कोई और डेबिट लेनदेन की देयता जारीकर्ता की होगी।

62. क्या ग्राहक गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता की ओर से हुई अंशदायी धोखाधड़ी/लापरवाही/ कमी के प्रति सुरक्षित है?

उत्तर. गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता की ओर से हुई अंशदायी धोखाधड़ी/लापरवाही/कमी के मामलों में ग्राहक की देयता शून्य है। पीपीआई-एमटीएस जारीकर्ता भी ऐसे कृत्यों/घटनाओं के लिए कवर किए जाते हैं।

63. क्या गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता की ओर से हुई अंशदायी धोखाधड़ी/लापरवाही/कमी होने पर ग्राहक को जारीकर्ता को सूचित करने की आवश्यकता है?

उत्तर. ग्राहक के खाते में किसी भी अनधिकृत लेनदेन की सूचना देना हमेशा उचित होता है। तथापि, जारीकर्ता गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता की ओर से हुई अंशदायी धोखाधड़ी/ लापरवाही/कमी के खिलाफ क्षतिपूर्ति से इस आधार पर इनकार नहीं कर सकता है कि ग्राहक ने अपने खाते में किसी भी अनधिकृत लेनदेन की सूचना नहीं दी है।

64. तीसरे पक्ष के उल्लंघन के मामलों में ग्राहक की देयता कैसे तय की जाएगी जहां कमी न तो गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता की है और न ही ग्राहक की है, बल्कि प्रणाली में कहीं और है, और ग्राहक अनधिकृत भुगतान लेनदेन के संबंध में गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता को सूचित करता है?

उत्तर. ऐसे मामलों में 'प्रति लेनदेन ग्राहक दायित्व' गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता से ग्राहक द्वारा लेनदेन सूचना की प्राप्ति और गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता को ग्राहक द्वारा अनधिकृत लेनदेन की रिपोर्टिंग के बीच व्यतीत दिनों की संख्या पर निर्भर करेगा। यदि जारीकर्ता को सूचना प्राप्त होने के तीन दिनों के भीतर सूचित किया जाता है, तो ग्राहक की देयता शून्य होगी। इसी तरह, सूचना प्राप्त होने के चार से सात दिनों के बीच रिपोर्ट किए गए ऐसे किसी भी लेनदेन के लिए, ग्राहक की देयता अधिकतम 10,000/ तक सीमित होगी। सात दिनों के बाद की गई रिपोर्टिंग वाले मामलों में गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता की बोर्ड द्वारा अनुमोदित नीति के अनुसार कार्रवाई की जाएगी।

65. ऊपर बताए गए दिनों की गिनती कब से होगी?

उत्तर. ऊपर उल्लिखित दिनों की संख्या की गिनती गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता से सूचना प्राप्त करने की तारीख को छोड़कर की जाएगी ।

66. ऐसे मामलों में जहां ग्राहक द्वारा लापरवाही के कारण नुकसान हुआ है, जैसे कि उसने भुगतान क्रेडेंशियल कहीं साझा किया है, नुकसान कौन और किस हद तक वहन करेगा?

उत्तर. ऐसे मामलों में जहां नुकसान ग्राहक की लापरवाही के कारण होता है, जैसे कि उसने भुगतान संबंधी जानकारी साझा किया है, ग्राहक पूरे नुकसान को तब तक वहन करेगा जब तक कि वह गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता को अनधिकृत लेनदेन की रिपोर्ट नहीं करता।

67. जारीकर्ता को इसकी सूचना देने के बाद किए गए अनधिकृत लेनदेन के मामले में नुकसान कौन वहन करेगा?

उत्तर. अनधिकृत लेनदेन की रिपोर्ट करने के बाद होने वाली किसी भी हानि को गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता द्वारा वहन किया जाएगा।

68. कितने दिनों के बाद ग्राहक के खाते में पात्र राशि जमा की जाएगी?

उत्तर. गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता ग्राहक द्वारा इस तरह की सूचना की तारीख से 10 दिनों के भीतर ग्राहक के पीपीआई में अनधिकृत इलेक्ट्रॉनिक भुगतान लेनदेन में शामिल राशि (नोशनल रिवर्सल / शैडो रिवर्सल) क्रेडिट करेगा। संबंधित प्रकार/श्रेणी के पीपीआई पर लागू अधिकतम अनुमत सीमा का उल्लंघन होने पर भी ऐसा रिवर्सल प्रभावी किया जाएगा। क्रेडिट अनधिकृत लेनदेन की तिथि के अनुसार मूल्य-दिनांकित होगा।

69. इस प्रकार प्राप्त नोशनल क्रेडिट का उपयोग कब किया जा सकता है?

उत्तर. इस प्रकार प्राप्त नोशनल क्रेडिट का उपयोग गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता द्वारा शिकायत के समाधान और ग्राहक की देयता स्थापित करने पर किया जा सकता है। तथापि, किसी भी परिस्थिति में, यह अवधि शिकायत प्राप्त होने की तारीख से 90 दिनों से अधिक नहीं हो सकती है।

70. यह साबित करने जिम्मेदारी किसकी है कि लेनदेन एक अनधिकृत लेनदेन नहीं है?

उत्तर. अनधिकृत इलेक्ट्रॉनिक भुगतान लेनदेन के मामले में ग्राहक के दायित्व को साबित करने का भार गैर-बैंक पीपीआई जारीकर्ता पर होता है।

ये अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा केवल सूचना और सामान्य मार्गदर्शन उद्देश्यों के लिए जारी किए जाते हैं। इनके आधार पर की गई कार्रवाइयों और/अथवा लिए गए निर्णयों के लिए बैंक को जिम्मेदार नहीं ठहराया जाएगा। स्पष्टीकरण अथवा व्याख्या के लिए, यदि कोई हो, किसी व्यक्ति को बैंक द्वारा समय-समय पर जारी प्रासंगिक परिपत्रों और अधिसूचनाओं द्वारा निर्देशित किया जाए।


2022
2021
2020
2019
2018
2017
2016
2015
2014
2013
2012
पुरालेख
Server 214
शीर्ष