सरकार का बैंक और ऋण प्रबंधक

सरकार के बैंकिंग लेनदेनों का प्रबंध करना रिज़र्व बैंक की प्रमुख भूमिका है। सरकार को व्‍यक्ति, कारोबार और बैंकों की भांति अपने वित्‍तीय लेनदेनों, जिसके अंतर्गत जनता से संसाधनों का जुटाया जाना भी शामिल है, को दक्षतापूर्वक और प्रभावी तरीके से पूरा करने के लिए एक बैंकर की आवश्‍यकता पड़ती है।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न


नवंबर 12, 2021
रिटेल डायरेक्ट योजना
अप्रैल 14, 2020
भारतीय रिज़र्व बैंक की सरकार के बैंकर के रूप में भूमिका
फरवरी 04, 2019
राष्ट्रिक स्‍वर्ण बॉण्‍ड योजना
नवंबर 23, 2017
भारत सरकार के दिनांकित प्रतिभूतियों और ट्रेज़री बिलों के लिए गैर-प्रतिस्पर्धी बोली सुविधा
फरवरी 28, 2017
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण जमा योजना (पीएमजीकेडीएस) 2016
जुलाई 26, 2014
मुद्रास्फीति सूचकांक राष्ट्रीय बचत प्रतिभूतियाँ – संचयी (आईआईएनएसएस-सी)
जून 03, 2013
मुद्रास्फीति सूचकांक बॉन्डों पर अतिरिक्त अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (गणना मापदंड)
मई 28, 2013
मुद्रास्फीति सूचकांक बॉन्ड (आईआईबी)
जुलाई 09, 2012
सरकारी प्रति‍भूति अधि‍नि‍यम 2006 और सरकारी प्रति‍भूति वि‍नि‍यमावली 2007
जून 29, 2012
एनडीएस-ओएम वेब
अप्रैल 29, 2010
भारत में सरकारी प्रतिभूति बाजार – एक प्रवेशिका
मार्च 05, 2007
सरकारी प्रतिभूतियां – भविष्य निधियों के लिए निवेश अवसर
नवंबर 16, 2002
रिलीफ बांड योजना
Server 214
शीर्ष